नीम से जैविक कीटनाशक कैसे बनाये और फायदे | neem kitnashak


नमस्कार दोस्तों भूमिपुत्र इंडिया चैनल पर आपका स्वागत है दोस्तों जैसा की हम जानते है जैविक खेती में रासायनिक कीटनाशको का उपयोग नही किया जा सकता है क्योकि रासायनिक कीटनाशको से फसल जहरीली हो जाती है लेकिन जैविक खेती में रोग तो आते ही है तो रोगों को रोकने के लिए हमे जैविक कीटनाशको का ही प्रयोग करना चाहिए अब किसान के सामने एक सबसे बड़ी समस्या ये रहती ही की जैविक कीटनाशक कैसे बनाये या कैसे प्राप्त करे और कोनसा कीटनाशक किस रोग या कीट को माँरने में सही काम करेगा दोस्तों इसी समस्या के समाधान के लिए हमने सभी जैविक कीटनाशको को बनाने तथा इनके प्रयोग करने के तरीके की पूरी जानकारी देने वाले अलग अलग विडियो बनाये है | अधिक जानकारी के लिए आप उन सभी वीडियोस को देख सकते है | दोस्तों इस विडियो में हम नीम के प्रयोग से बनने वाले जैविक कीटनाशको के फायदे के बारे में बात करेंगे और इन्हें बनाना सीखेंगे दोस्तों क्या आप जानते है नीम को एग्रीकल्चर में वंडर ट्री के नाम से जाना जाता है क्योकि वाकई में इसके खेती में उपयोग करने के आश्चर्यजनक फायदे है नीम एक बहुत बेस्ट कीटनाशक है वानस्पतिक कीटनाशक श्रेणी में नीम ऐसे ऐसे कीटो को माँरने में सक्षम है जिन पर रासायनिक दवाओ का कोई अशर नही होता है और किसान का पैसा बेवजह बर्वाद होता है वानस्पतिक कीटनाशको में धतुरा , बेशर्म जैसे पौधे भी आते है लेकिन नीम की तरह मास्टरयूजेज नहीं है नीम सबसे ज्यादा प्रभावी कीटनाशक होता है इसका प्रत्येक भाग किसान के काम आता है सबसे पहले बात करते है नीम के प्रयोग से बने जैविक कीटनाशको से होने वाले फायदे की ये जैविक कीटनाशक किन किन रोगों या कीटो को ख़त्म करने मदद करते है वैज्ञानिक प्रयोगों में पाया गया है की नीम 200 तरह के कीटो और सूक्ष्मकृमियो को रोकने या मारने में बहुत अच्छा कार्य करता है | नीम से बने के जैविक कीटनाशक के छिडकाव से लीफ माईनर, सफ़ेद मक्खी, मिली बग , गैमोट तथा मकड़ी को ख़त्म किया जा सकता है इसी तरह ग्रास होपर, लीफ होपर, प्लांट होपर, एफिड, जैफिड, बीटल लार्वा, मौथ और इल्ली के लिए नीम तेल तथा नीम अर्क बहुत अच्छा काम करता है किसान सभी कीटो के बारे में नहीं जानते है न ही किसान ये जानते है कीट कैसे पोधे को नुकशान पहुचाते है या कोनसा कीट किस रोग का जनक है तो इस तरह कहना गलत नही होगा नीम खेत में लगे हर रोग या कीट को ख़त्म करने में सहायक है | तो थे नीम कीटनाशक के फायदे अब नीम कीटनाशक बनाना सीखते है | नीम कीटनाशक का फार्मूला –
इसे बनाने के लिए चाहिए • 3 किलो ताज़ी नीम की पत्तियां ( हल्की पिसी हुयी )
• 1 किलो नीम की निबोली (नीम का फल) का चूर्ण (पाउडर) • 10 लीटर गौमूत्र
• 1 ताम्बे का बड़ा पात्र *10 दिनों के बाद
• 500 ग्राम हरी मिर्च ( हल्की पिसी हुयी )
• 250 ग्राम लहसुन ( हल्की पिसी हुआ ) बनाने की विधि –
सबसे पहले ताम्बे के पात्र में 3 किलो पिसी हुयी ताज़ी नीम की पत्तियां और 1 किलो नीम की निबोली के चूर्ण को 10 लीटर गोमूत्र में मिलाये अब इस पात्र को अच्छी तरह कपडे से बंद करके 10 दिन तक सड़ने के लिए रख दे 10 दिन बाद इस मिश्रण को तब तक उबाले जब तक ये आधा न रह जाए और इसे फिर एक दिन लिए छोड़ दे इसके बाद एक दुसरे पात्र ( प्लास्टिक का भी हो सकता है ) में 250 ग्राम लहसुन को 1 लीटर पानी में डालकर रातभर के लिए गलने के लिए छोड़ दे और इसी तरह ही अलग से अन्य पात्र में 500 ग्राम हल्की पिसी हुयी हरी मिर्च को भी 1 लीटर पानी में डालकर रात भर के लिए छोड़ दे अगले दिन उबला हुआ मिश्रण , हरी मिर्च वाला पानी और लहसुन वाला पानी एक ही पात्र में मिला देना है अब यह कीटनाशक बनकर तैयार है | इस 1 लीटर जैविक कीटनाशक का उपयोग 60 लीटर पानी में मिला कर अनेक कीटो को ख़त्म करने में कर सकते है दोस्तों ये विडियो केसा लगा या अगला विडियो किस पर बनाऊ ये मुझे आप कमेंट करके बता सकते है विडियो पसन्द आया हो तो लाइक और शेयर जरुर कर देना तो दोस्तों मिलता हूँ इस तरह के एक नये विडियो में तब तक लिए स्वस्थ रहे मस्त जय हिन्द बंदेमातरम्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *